English Website | हमसे संपर्क करें
sasas

दृष्टि

आई पि आई आर टी आई की भावी रूपरेखा समवर्ती अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी से सुसज्जित होकर अंतर्राष्ट्रीय ख़्याति का शीर्ष संस्थान बनना और आवश्यक अनुसंधान तथा विकास सचालित करनें में समर्थ आंतरिक महत्वपूर्ण विशेषज्ञता विकसित करना है ताकि विकासशील  समाज की महत्वपूर्ण आवश्यकताओं की पूर्ती करते हुए, शैक्षिक समुदाय तथा साथ ही, काष्ठ व अन्य लिग्नोसेल्यूलोसिक सामग्रियों पर आधारित पैनल  उद्योग क्षेत्र   को बागानी इमारती लकडी तथा बाँस सहित नवीकरणीय प्राकृतिक रेशों से काष्ठ तथा पैंनल  उत्पादों के क्षेत्र में कुशल  तकनीकों के विकास तथा अभिग्रहण के माध्यम से प्राकृतिक वनों के संरक्षण से संबंधित सलाह और/या प्रेतिस्पर्धि परामर्श प्रदान कर सकें।       
इस कल्पना को साकार करन के लेए आई पि आई आर टी आई काष्ठ  तथा नवीकरणीय प्राकृतिक रेशों की अन्य लिग्नोसेल्यूलोसिक सामग्रियों से बने प्लाईवुड और पैनल  उत्पादों से संबंधित सभी पह्लुओं पर  अनुसंधान तथा विकास, प्रशिक्षण व शिक्षा, परीक्षण तथा मानकीकरण और विस्तार के काम में संलग्न है।

अनुसंधान गतिविधियों की आवधिक  तौर रि समीक्षा की जाती है और उद्योग की बदलती जरूरतें, राष्ट्रीय नीतियाँ, कच्चे माल  संबंधी परिद्रश्य तथा पैनल  उत्पादों के लिए लोगों  की आवश्यकताओं के साथ कदम  मिलाते हुए उनको युक्तिसम्मत बनाया जाता है।

अनुसंधान कार्यक्रमों में पर्यिावरण और जैव-विविधता के संरक्षण के लिए वैक्ष्विक चिंता प्रति बिंबत होती है. परियोजना गतिविधियों पर निर्णय लेते समय ध्यान में रखे जाने वाले महत्वपूर्ण विचार हैं, प्राकृ तिक वनों का संरक्षण तथा काष्ठ तथा अन्य लिग्नोसेल्यूलोसिक सामग्रियों से पैनल  उत्पादों के प्रति लोगों की जरूरतों को  पूरा करना।